बैंक शाखा के स्थानांतरण के विरोध में प्रदर्शन

0

म्योरपुर (राजीव मिश्र)

image

– आरंगपानी में शाखा स्थानांतरण को लेकर पूर्व में भी ग्रामीणों ने जताया था विरोध

म्योरपुर। स्थानीय विकास खंड की आरंगपानी ग्राम पंचायत स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा को गोविन्दपुर शाखा में विलय करने के विरोध में बृहस्पतिवार को ग्रामीणों ने बैंक के सामने प्रदर्शन किया।प्रदर्शनकारियों का कहना था कि बैंक हटने से उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।उन्होंने कहा कि मामले पर विचार नहीं किया गया तो वह व्यापक पैमाने पर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।इस मौके बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।म्योरपुर विकास खण्ड की आरंगपानी ग्राम पंचायत में स्थित करीब 15 हजार खाता धारकों वाले एसबीआइ शाखा  को गोविदपुर शाखा में विलय करने के विरोध में बृहस्पतिवार को दर्जनों गांव के ग्रामीणों ने बैंक के सामने प्रदर्शन किया।ग्रामीणों ने कहा कि बैंक खुलने के बाद उन्हें काफी राहत मिली थी।बैंक की शाखा होने की वजह से उन्हें डिजिटल इंडिया की दिशा में लेनदेन में आसानी होने लगी थी, लेकिन शाखा के स्थानांतरण से उन्हें काफी फजीहत झेलनी पड़ेगी।कहा गोविंदपुर शाखा की दूरी करीब 35 किलोमीटर दूर होने की वजह से उन्हें आने जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।पूर्व प्रधान शिवसागर जायसवाल ने कहा कि आरंगपानी से गोविंदपुर की दूरी अधिक होने की वजह से गरीब ग्रामीणों के साथ अन्याय होगा।आरोप लगाते हुए कहा कि बैंक कर्मचारी अपनी कमियां छुपाने के लिए यह कदम उठा रहे हैं, जिसे हम लोग होने नहीं देंगे।कहा कि बैंक द्वारा अभी तक केसीसी नहीं दी गई है।कहा लिलासी स्थित एक बैंक द्वारा लगातार केसीसी का वितरण किया जा रहा है।ऐसे में बैंक कर्मियों को बैंक के घाटे का जिम्मेदार ठहराते हुए जांच की मांग भी की।उपभोक्ता सोनी, शांति, अतवारिया ने कहा कि हम बुजुर्ग महिलाएं इतनी दूरी तय कर रुपये निकालने नहीं जा पाएंगे।कहा कि बैंक हमारा खाता बंद कर रुपये इस शाखा से वापस कर दें।कहा कि चांगा, कुदरी, चेरी, धनखोर, किरविल आदि गांव के बीच यही एक बैंक था, जिससे हम ग्रामीणों को सुविधा मिलती थी।इस मौके पर मथुरा, कमलेश, सुरेश, देव कुमार, चंदू लाल, कुंज बिहारी, भगवान दास, संतोष, बिहारी, राज कुमारी, अतवारिया, समुद्री, शकुंतला आदि रहे।इस संबन्ध में शाखा प्रबंधक सुबोध कांत ने बताया कि बैंक घाटे में चल रहा था, इस कारण स्थानांतरण का निर्णय प्रबंधन ने लिया है।ग्राहकों से इससे कोई परेशानी नहीं होगी।

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!