युवक मंगल दल ने मनाया युवा दिवस, स्वामी विवेकानन्द के पदचिन्हों पर चलने का लिया संकल्प

0

सोनभद्र (राकेश अग्रहरि/मुकेश सिंह)

image

सोनभद्र। युवा कल्याण एंव प्रान्तीय रक्षक दल विभाग उ0 प्र0 शासन द्वारा संचालित स्वंय सेवी संगठन युवक मंगल दल के तत्वावधान में सदर ब्लॉक के ऊँचडीह गांव में स्वामी विवेकानंद जी की जयंती मनाई गई।कार्यक्रम का शुभारंभ गाँव के वरिष्ठ नागरिक व रिटायर्ड स्टेशन मास्टर श्री इंद्रदेव पाण्डेय जी ने स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर माल्यार्पण व धूप जलाकर किया।मुख्य अतिथि श्री पाण्डेय ने कहा कि आज स्वामी विवेकानंद का 156वां जन्मदिन मना रहे हैं।उनका जन्‍म 12 जनवरी 1863 को हुआ था, भारत में उनके जन्मदिवस को हम सभी भारतवासी राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाते है।स्वामी जी कहते थे कि     जब तक आप खुद पे विश्वास नहीं करते तब तक आप भागवान पे विश्वास नहीं कर सकते।वे कहते थे एक समय में एक काम करो और ऐसा करते समय अपनी पूरी आत्मा उसमे डाल दो और बाकी सब कुछ भूल जाओ।स्वामी जी के यही वचन युवाओं के लिए सदैव ही प्रेरणा श्रोत रहेंगे, उनके बताए रास्तों पर चलना ही हमारा कर्तव्य है।जिला उपाध्यक्ष रजनीश पाण्डेय और वीरेंद्र देव ने कहा कि युवाओं को स्वामी जी के बताये आदर्शों पर चलने की जरूरत है।स्वामी जी के विचार युवाओ के लिए किसी किसी संजीवनी से कम नहीं।स्वामी जी कहते थे कि उठो जागो और अपने लक्ष्य प्राप्ति तक रुको मत, वे कहते थे कि आप जो सोचेंगे वही हो जायेंगे, अगर खुद को कमजोर सोचेंगे तो कमजोर, शक्तिशाली सोचेंगे तो शक्तिशाली हो जाएंगे।उनका कहना था कि सच्चाई के लिए कुछ भी छोड़ देना चाहिये, पर किसी के लिए सच्चाई नही छोड़ना चाहिये।स्वामी विवेकानन्द ने अपने विचारों से ना सिर्फ भारत का नाम रौशन किया बल्कि दुनिया में भी देश का मान बढ़ाया था।विश्व धर्म सम्मेलन में अमेरिका के शिकागो शहर में दिया गया उनका ओजपूर्ण भाषण आज भी काफी लोकप्रिय है।सन 1893 में उन्होंने शिकागो में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में दुनिया को हिंदुत्व और आध्यात्म का पाठ पढ़ाया था।आई टी सेल के संयोजक व प्रवक्ता सत्यदेव ने कहा कि विगत नौ वर्षो से संगठन के जिलाध्यक्ष सौरभ कांत पति तिवारी के नेतृत्व में युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा था, जिसमे जिले के गणमान्य लोगों के साथ-साथ समाज के लिए अच्छा कार्य करने वाले युवाओ का सम्मान किया जाता था साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रमो की भी प्रस्तुति की जाती थी।इस वर्ष किन्ही कारण वस युवा महोत्सव का आयोजन नही हो सका लेकिन हमारे इरादे मजबूत है और हम स्वामी जी को आदर्श मानते है।।इस अवसर पर राजेन्द्र देव, विपिन बहादुर सिंह, विवेक सिंह, राममोहन, अभिषेक पाण्डेय, शशांक पाण्डेय, रिंकू, पिंकू, सत्यदेव पाण्डेय, अनुज कुमार, त्रिवेणी प्रसाद, प्रेमनाथ, ऋतिक सगीत युवक मंगल दल के कार्यकर्ता मौजूद थे।

Share.

Comments are closed.

error: Content is protected !!