विकास से कोसो दूर बोधाडीह- सुरेन्द्र अग्रहरि

0

दुद्धी (पिंटू अग्रहरि)

image

– स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क व बिजली से मरहूम बोधाडीह गाँव- सुरेन्द्र अग्रहरि

दुद्धी। तहसील मुख्यालय दुद्धी से 30 किलोमीटर दूरी पर स्थित दुद्धी ब्लॉक का बोधाडीह ग्रामपंचायत  जो अतिदुर्गम क्षेत्र में कनहर नदी के किनारे पर अवस्थित है जो तीन टोलो में ढरनवा, बोधाडीह व औराडाढ़ में विभाजित है।यहाँ पर लगभग 3000 महिला, पुरूष और बच्चे रहते है।दो जूनियर हाईस्कूल व तीन प्राथमिक विद्यालय है।चार सफाईकर्मी नियुक्त है।इस ग्रामपंचायत में घसिया,  गोड़, चेरो और कुछ यादव बिरादरी के लोग रहते है जिनमें गौड़ जाति की जनसंख्या ज्यादा है।सड़क की स्थिति बहुत ही खराब है।स्वास्थ्य की स्थिति बद से बदतर है।यदि किसी की तबियत अचानक खराब हो जाये तो एम्बुलेंस को पहुँचने में 2 घन्टे का समय लग जायेगा और सभी जगहों तक पहुँच भी नहीं पाएंगे।कई घरों तक जाने के लिए पगडंडियों का सहारे ही जाना पड़ता है।सिचाई की भी समुचित व्यवस्था नही है।भक्तिनिया टोला में चेकडैम टूटा हुआ है।रॉबर्ट्सगंज और दुद्धी विधानसभा की सीमा पर स्थित इस गाँव में भाजपा नेता डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि ने डायरेक्टर संजय कुमार तिवारी के साथ इस गाँव का दौरा कर वहां की स्थिति के बारे मे जायजा लिया और लोगो को सरकार की योजनाओं के बारे मे जानकारी दिया।उनके बच्चों को स्कूल जाने के लिए प्रेरित किया और अभिभावकों से भी आग्रह किया कि आपलोग अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजे।जो भी लोग मजदूरी करते हैं ऐसे मजदूर लोग श्रम विभाग में अपना रजिस्ट्रेशन अवश्य करा लें जिससे किसी प्रकार की घटना, दुर्घटना होने पर  उसका लाभ लोगो को मिले।विद्युतीकरण तो हो रहा है लेकिन अभी पूरी जगह नहीं हो पाया है।दुरूह क्षेत्र होने के कारण यहाँ पर कोई जाने में हिचकिचाता है।उन्होंने लोगो से कहा कि आप लोग अच्छे कार्यो में अपनी सहभागिता दे, कोई गलत रास्ते पर ले जाने की बात करे तो शीघ्र पुलिस को सूचना दे।जूनियर हाईस्कूल के बाद बच्चों के लिए विद्यालय दूर होने के कारण बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है क्योंकि यह क्षेत्र जंगली है।भाजपा नेता सुरेन्द्र अग्रहरि ने ग्रामप्रधान भागीरथी गोड़ से कहा कि यहाँ पर जिन सुविधाओं की कमी है उसके लिए एक पत्र बनाकर जिलाधिकारी के नाम दीजिये जिससे सीएसआर या अन्य मदो से कोई कार्य कराया जा सके।इस अवसर पर घसिया बस्ती के लोगो ने गाँव में काम न होने की बात बताई।

Share.

Comments are closed.

error: Content is protected !!