24वीं जनपद स्तरीय बाल क्रीडा प्रतियोगिता का हुआ आगाज

0

सोनभद्र (राकेश अग्रहरि/मुकेश सिंह)

image

सोनभद्र। शिक्षा के साथ-साथ खेल प्रतियोगिता का आयोजन करना बच्चों के लिए लाभप्रद है।खेल जीवन के महत्वपूर्ण है।खेल से शारीरिक, मानसिक रूप से बच्चा स्वस्थ्य रहता है।खेल से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है।खेल जीवन में प्रतिस्पर्धा की भावना उत्पन्न करता है, क्योंकि जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रतिस्पर्धा की बहुत आवष्यकता है, परन्तु प्रतिस्पर्धा में द्वेश की भावना नहीं होनी चाहिए।खेल हमारे जीवन में प्रतिस्पर्धा के लिए अग्रसारित करते हैं।खेल-कूद से आपसी मेल-जोल बढ़ने के साथ ही स्वस्थ्य मनोरंजन को बढ़ावा मिलता है और बेहतरीन समाज की स्थापना होती है।

image

उक्त बातें जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने शुक्रवार को जिला शिक्षा एवं प्रषिक्षण संस्थान उरमौरा परिसर में आयोजित 24वीं जनपद स्तरीय बाल क्रीडा प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक समारोह में कहीं।उन्होंने कहा कि खेल से हमारे जीवन में काफी कुछ सीखने को मिलता है, जो भविष्य में आगे बढ़ने के लिए काफी कारगर होता है।कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती जी के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर माल्यार्पण करके किया।साथ ही शान्ति के प्रतीक गुब्बारे व सफेद कबूतर आसमान में छोड़े।बच्चों द्वारा जनपद के आदिवासी नृत्य करमा, लोकगीत, सरस्वती वंदना, स्वागत गीत आदि अन्य विधाओं में बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये। जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने बच्चों को उत्साह वर्धन किया और उन्होंने भविष्य को बेहतर बनाने के लिए अच्छी शिक्षा ग्रहण करने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में जिले के आठों विकास खण्डों के स्कूली बच्चों ने प्रतिभाग किया।दो दिवसीय इस प्रतियोगिता में लगभग कुल 1 हजार 265 बच्चें प्रतिभाग करेंगें। प्रतियोगिता में दौड़, ऊंची कूद, बाली-बाल, हैण्डबाल, योग, राष्ट्रीय लोक गीत आदि की प्रतियोगिता किया जायेगा।जिला शिक्षा एवं प्रषिक्षण केन्द्र उरमौरा में शायंकाल सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रतियोगिता का आयोजन स्कूली बच्चों द्वारा किया जायेगा।जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने खेल से हमें प्रतिस्पर्धा की भावना उत्पन्न होती है और प्रतिस्पर्धा भविष्य में आगे बढ़ने के लिए बहुत ही जरूरी है।उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता की शुरूआत न्याय पंचायत से होकर ब्लाक स्तरीय, जनपद स्तरीय, मण्डल स्तरीय एवं राज्य स्तरीय तक पहुंचती है।उन्होंने कहा कि खेल के माध्यम से बच्चों में छिपी हुई प्रतिभा को निखारने के लिए होनहार खिलाड़ियों को बेहतर सुविधाएं मुहैया करायी जाय। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोकप्रिय सरकार स्कूलों के माध्यम से बच्चों को खेल से जोड़ने का काम कर रही है।बच्चों को मौसमी खेलों से जोड़ते हुए खेल को बढ़ावा दिया जा रहा है।इस मौके पर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार वर्मा, जिला शिक्षा एवं प्रषिक्षण के प्राचार्य राजेन्द्र प्रताप, बीएसए डाॅ0 गोरखनाथ पटेल, कृषि उप निदेषक डी0के0 गुप्ता, जिला कृषि अधिकारी पीयूष राय, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी अनिल कुमार गुप्ता, खण्ड शिक्षा अधिकारीगण, परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकगण सहित हजारों की संख्या में स्कूली बच्चों आदि मौजूद रहें।

Share.