स्वामी विवेकानंद शिक्षण संस्थान में सांस्कृतिक आयोजनों के बीच मना वार्षिकोत्सव

0

डाला (गुड्डु तिवारी/गुड्डु शर्मा)

image

डाला। किताबी शिक्षा के साथ गीत संगीत के ज्ञान से विधार्थीयो का चहुमूखी विकास होता है।जिन्हे हर क्षेत्र में महारत हासिल होने का गौरव प्राप्त होता है।उक्त बाते स्वामी विवेकानन्द शिक्षण संस्थान के वार्षिक उत्सव में बतौर मुख्य अतिथि समाजसेवी अमित अग्रवाल ने कही।पडरछ ग्राम पंचायत के खडार में संचालित स्वामी विवेकानन्द शिक्षण संस्थान का आयोजित वार्षिक उत्सव में बच्चो ने एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक कार्यक्रमो कि प्रस्तुती की।कार्यक्रम के मुख्यअतिथि युवा समाजसेवी अमित अग्रवाल द्वारा दीप प्रजज्वलन कर सरस्वती माता के चित्र पर पुष्प अर्पित किया।छात्राओ ने सरस्वती वंदना व स्वागत गीतो से कार्यक्रम कि शुरूआत की।देश भक्ति गीतो के साथ ही डीजे की धुन पर नृत्य कि प्रस्तुती दी गयी।

image

नन्हे-मुन्हें बच्चो कि ग्राप डांस पर खूब तालिया बजी।वार्षिक उत्सव पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम कि सराहना करते हुए मुख्य अतिथि अमित अग्रवाल व विशिष्ट अतिथि पवन कुमार ने कहा कि विधा के केन्द्र में बच्चो कि रंगारंग प्रस्तुती उनके प्रतिभा को और आगे बढ़ाने में मद्द करेगी।किताबी पठन पाठन के साथ ही गीत संगीत का ज्ञान बच्चो का चहुमूखी विकास का प्रतीक है।ऐसे स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे जीवन कि उच्चाईयो पर पहुंचकर देश का नाम रौशन करेगें।कार्यक्रम का संचालन अर्बिन्द दूबे ने किया।इस अवसर पर वरूण कुमार, अवधेश, आशीष, रेखा, प्रियंका, सुशीला, ब्रजेश, दीपक, निशू आदि लोग मौजूद रहे।

Share.