ब्लास्टिंग से क्षतिग्रस्त हो रहे मकान, क्षुब्ध लोगों ने किया प्रदर्शन

0

डाला (गुड्डु तिवारी/एसपी शुक्ला)

image

डाला। बिल्ली मारकुंडी के कोठा टोला में डाला-ओबरा मार्ग के किनारे स्थित मकानो पर आयेदिन ब्लास्टिंग से उड़े पत्थरो के गिरने से परेशान रहवासियो ने प्रदर्शन कर कंपनी के विरूध कार्यवाही कर सुरक्षा किये जाने कि गुहार प्रशासन से लगाई है।पत्थरो के गिरने से कई बार बस्तीवासियों के समानो कि टूटफूट हो चुकी है।स्थानीय पुलिस चौकी के ग्राम पंचायत बिल्ली मारकुंडी के कोठा टोला में डाला-ओबरा मार्ग के किनारे स्थित मकानो पर खदान में होने वाले ब्लास्टिंग से उड़े पत्थरो के गिरने से समानो कि हमेशा टूटफूट होती है और लोगो में अपनी सुरक्षा को लेकर भय बना रहता है।स्थानीय पुलिस में शिकायत के बाद भी समस्या का समाधान न होने से आक्रोसित लोगो ने डाला-ओबरा मार्ग पर प्रदर्शन कर नारे लगाये और सम्बंधित जिम्मेदार कंपनी के विरूध कार्यवाही करने की मांग की।प्रदर्शन करने वालो ने बताया कि कोठा टोला में स्थित बस्ती से महज दो सौ मीटर कि दुरी पर ही सीमेन्ट कंपनी द्वारा खदानो में पत्थरो कि निकासी के लिए ब्लास्टिंग किया जाता है जिससे उड़कर पत्थर बस्ती में गिरता रहता है जिसके कारण कई बार लोगो के समानो कि टूटफूट हो चुकी है और लोग हताहत होने से बाल बाल बचे है।सात अक्टूबर 2017, तीस जुलाई 2018 व तीन नवम्बर 2018 को मकानो पर अधिक मात्रा में पत्थर गिरे थे जिसमे काफी नुकसान लोगो का हुआ था जिसको लेकर स्थानीय पुलिस के साथ ही जिलाधिकारी, अपर मुख्य सचिव भूत्तव व खनिकर्म विभाग, खान अधिकारी, खान निरीक्षक खनिज व अपर पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर समस्या से अवगत कराते हुए सुरक्षा कि गुहार लगाया जा चुका है लेकिन अभी तक पत्रो पर अमल नहीं किया गया।बस्ती में प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय चलता है जिसमें तीन से चार सौ की संख्या में बच्चे पढ़ते हैं और इसी रास्ते से आना जाना होता है जिनका जान भी असुरक्षित है।हैबी ब्लास्टिंग से मकाने हिलने लगते है जिसमे कई जगहो पर दरारे भी आ गयी हैं।अबतक पत्थरो के गिरने से प्रभावित बुद्धिसागर, अध्या प्रसाद, बृजेश कुमार, राकेश कुमार, कन्हैयालाल, शकुन्तला देवी, कौशल्या देवी, रामनरेश, अमर साह आदि लोगो में जानमाल कि सुरक्षा को लेकर हमेशा भय ब्याप्त रहता है।लोगो ने कहा कि बस्ती पर गिरने वाले पत्थरो के जिम्मेदार सीमेन्ट कंपनी के विरुद्ध कार्रवाई नहीं किया गया तो लोग सड़को पर उतरकर आँदोलन को बाध्य होगें।इस अवसर पर शारदा प्रसाद, बिनोद, केवल, अजय, रविन्द्र, गुड्डू, धर्मेन्द्र, संदीप कुमार, रविशँकर आदि लोग मौजूद रहे।

Share.