प्रदेश सरकार के मंत्री ने नगर क्षेत्र के अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

0

सोनभद्र (राकेश अग्रहरि/मुकेश सिंह)

image

सोनभद्र। जन प्रतिनिधियों के सुझाओं को कार्य योजनाओं में जरूर शामिल किया जाय। जमीनी हकीकत के मुताबिक पात्रों का चयन हों और नगर निकायो के जमीनों को अतिक्रमण से मुक्त कराते हुए चरणबद्ध तरीके से वार्डों को ‘‘खुले में शौचमुक्त/ओडीएफ‘‘ कराया जाय, साथ ही सालीड मैनेजमेन्ट की व्यवस्था सुनिष्चित करने के साथ ही कार्य योजना बनाकर कार्य मूर्त रूप दिया जाय।स्वच्छता अभियान चलाकर ओडीएफ के महत्व के प्रति नगरवासियों को जागरूक किया जाय।उक्त निर्देष प्रदेष के राज्य मंत्री, नगर विकास, अभाव एवं पुनर्वास विभाग गिरीष चन्द्र यादव ने जनपद भ्रमण के दौरान स्थानीय लोक निर्माण विभाग के गेस्टहाउस में नगर पालिका परिषद, नगर पंचायत व जल निगम के अधिकारियों के साथ आयोजित समीक्षा बैठक में दिये।मंत्री श्री यादव ने कहा कि नगर पालिका व नगर पंचायत क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल की मुकम्मल व्यवस्था सुनिष्चित की जाय और हर हाल में सरकार की प्राथमिकताओं पर ध्यान देते हुए शुद्ध पेयजल, साफ-सफाई, रौशनी के इन्तेजामात के साथ ही मच्छर बचाव के लिए रोस्टर बनाकर फागिंग/मच्छर निरोधी छिड़काव किया जाय।

image

उन्होंने अधूरी परियोजनाओं को तत्परता के साथ लगकर पूरा किया जाय और प्रदेश की लोकप्रिय सरकार के स्वच्छ मानसिकता के अनुरूप अधिकारी कार्यों को पूरा करते हुए नागरिकों को राहत पहुंचायें। राज्य मंत्री श्री यादव ने कहा कि सफाई के लिए सफाई कर्मी की ड्यूटी नियमानुसार लगाने के साथ ही उनके नाम व पते को सार्वजनिक भी किया जाय, ताकि लोगों द्वारा समय समय पर गंदगी का अंबार लगने जैसी स्थिति की जानकारी दी जा सके तथा सफाई से सम्बन्धित सामूहिक बैठकें भी किया जाय, ताकि स्वच्छ मिषन का सपना पूरा हो सके।जहां नागरिकों को शौचालय बनवाने के लिए जमीन की दिक्कत हो, वहां सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कराया जाय, इस कार्य में दिक्कत होने पर सम्बन्धितों से आपसी समन्वय स्थापित कर निर्माण कार्य को पूरा किया जाय।उन्होंन नगर पालिका परिषद व नगर पंचायत के अधिषासी अधिकारियों को निर्देषित किया कि राज्य वित्त मद से प्राप्त धनों का सही तरीके से उपयोग किया जाय, ताकि नगर का विकास समुचित ढंग से हो सके।नगर निकाय की समीक्षा करते हुए मंत्री जी ने दायित्वबोध कराते हुए कहा कि नगर निकाय के विकास से जुड़े अधिकारी जनता की षिकायतों के प्रति तत्पर रहते हुए पूरी ईमानदारी के साथ नागरिकों को सुविधाएं मुहैया करायें।उन्होंने अधिषासी अभियन्ता जल निगम निर्माण शाखा व यूनिसेफ को निर्देषित किया कि वे शहरी क्षेत्रों के हैण्डपम्पों के मरम्मत व पेयजल का कार्य तत्परता के साथ करायें।उन्होंने कहा कि प्रदेष की लोकप्रिय सरकार सभी के हितों के प्रति काफी संजीदा है, लिहाजा बिना किसी भेद-भाव के नगर क्षेत्रों का चतुर्दिक विकास किया जाय।नगर के विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं है, जरूरत है कि ईमानदारी व दृढ़ इच्छा षक्ति के साथ कार्यों को मूर्त रूप देने की।मंत्री जी ने निकाय से जुड़े सभी बिन्दुओं की बारी-बारी से समीक्षा करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को सहेजने के साथ ही शासन की मंषा के अनुरूप कार्य करने की नसीहत दी।समीक्षा बैठक में मंत्री गिरीष चन्द्र यादव के अलावा विधायक सदर भूपेष चौबे, भाजपा जिलाध्यक्ष अषोक मिश्रा, अधिषासी अधिकारी नगर पालिका परिषद राबर्ट्सगंज, प्रदीप गिरि, ई0ओ0 ओबरा टी0एन0 चैबे, ई0ओ0 चोपन महेन्द्र कुमार, ई0ओ0 घोरावल चैतन्य तिवारी सहित नगर के सभी ई0ओ0गण सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहें।

Share.