स्वास्थ विभाग का अधिकारी बनकर खाते से निकाल लिया रकम

0

म्योरपुर (राजीव मिश्र)

image

म्योरपुर। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत खाड़पाथर गांव में वंदना योजना के लाभार्थियों के खाते से फर्जी तरीके से रकम निकाल ली गयी है।स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारी बन कर फोन के माध्यम से बैंक का डिटेल लेने के बाद ठगों के गिरोह ने एक बड़ी रकम खाते से निकाली है।इससे लाभार्थियों में हड़कंप मचा हुआ है।उन्होंने स्वास्थ विभाग के उच्चाधिकारियों से रकम वापस दिलाने की मांग की है।म्योरपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत खाड़पाथर गांव में वंदना योजना के लाभार्थी बृजेश यादव के खाते से दस हजार रुपए ठगों द्वारा निकाले जाने का आरोप लगाया है।इस संबंध में स्वास्थ्य पर्यवेक्षक आरके वर्मा ने बताया कि ठगों द्वारा वंदना योजना के लाभ दिलाने के नाम पर लाभार्थियों से ठगी की गई है उन्होंने कहा कि ऑनलाइन आशाओं का नाम और नंबर ठगों द्वारा निकाल लिया जा रहा है।इस दौरान आशाओं को फोन कर स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी बताकर रकम भेजने के नाम पर लाभार्थियों का मोबाइल नंबर लेने के बाद ठग गिरोह के लोग सीधे लाभार्थी से बात कर उसका एटीएम नंबर पूछ कर उनके खाते से रकम उड़ा दे रहे हैं।उन्होंने बताया कि बृजेश यादव नामक व्यक्ति से ठगी की गई है।उन्होंने यह भी कहा कि खाड़पाथर के अलावा रेणुकूट शक्तिनगर और बीजपुर में भी इस तरह की ठगी की सूचनाएं प्राप्त हुई है।म्योरपुर सीएचसी अधीक्षक डॉ राजीव रंजन ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में है।उन्होंने कहा इसकी जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दे दी है।कहा कि ठग गिरोह के लोग स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और अधिकारी बताकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं, जो गंभीर मामला है।उन्होंने आशाओं, एएनएम और लाभार्थियों को इस तरह के लोगों से सतर्क रहने की सलाह दी है।

Share.