प्रेमचंद की 'नमक का दारोगा' जैसे अफसर चाहिए, जिसने 40 हजार ठुकराए थे: रिश्वत केस में कोर्ट ने कहा

0

[ad_1]

चंडीगढ़. एक लाख रुपए की रिश्वत के साथ पकड़े गए आईपीएस ऑफिसर देसराज सिंह को शुक्रवार को सीबीआई कोर्ट ने 3 साल की सजा सुना दी। एक लाख रुपए जुर्माना भी लगाया है। फैसला सुनाते हुए सीबीआई कोर्ट की स्पेशल जज गगनगीत कौर ने कहा कि इस केस से उन्हें मुंशी प्रेमचंद की 1925 में छपी कहानी ‘नमक का दरोगा’ की याद आ गई। उसमें दरोगा के

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

[ad_2]

Share.

About Author