सरकार ने डिजिलॉकर को मान्यता दी, ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी के रजिस्ट्रेशन की सॉफ्ट कॉपी होगी मान्य

0

top

डिजिलॉकर को मान्यता देते हुए केंद्र ने परिवहन विभागों और ट्रैफिक पुलिस को निर्देश दिया कि वेरिफिकेशन के लिए असली दस्तावेज न देखे जाएं। आईटी एक्ट 2000 के तहत डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप पर मौजूद दस्तावेज की ई-कॉपी को वैध माना जाएगा। यह नियम पूरे भारत में लागू होगा। वहीं, ट्रैफिक पुलिस भी अपने मोबाइल में मौजूद दोनों तरह के ऐप से ड्राइवर और वाहन की जानकारी डेटाबेस से मिला सकेगी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

bot

Share.

Leave A Reply

error: Content is protected !!